All Rights

Published on Nov 8, 17 |     Story by |     Total Views :

Pin It

Home » Daily_News, National » प्रद्युम्न हत्याकांड में आया नया मोड़, 11वीं के छात्र को CBI ने लिया हिरासत में आखिर क्यों ?

प्रद्युम्न हत्याकांड में आया नया मोड़, 11वीं के छात्र को CBI ने लिया हिरासत में आखिर क्यों ?

हरियाणा के गुरुग्राम में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्दुम्न हत्याकांड में नया मोड़ आ गया है। केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इसी स्कूल में पढ़ने वाले 11वीं के एक छात्र को हिरासत में लिया है। परन्तु आरोपी छात्र के पिता का कहना है कि उनका बेटा प्रद्दुम्न को जानता ही नहीं था। पिता का यह भी कहना है कि सबसे पहले उनके बेटे ने ही माली को प्रद्दुम्न के साथ हुए हादसे की बात बताई थी। मेरे बेटे को नाजायज तरीके से हिरासत में लिया गया है और उसे फसाया जा रहा है वो बेक़सूर है.

माना जा रहा है कि प्रद्दुम्न हत्याकांड में इस छात्र की कोई न कोई भूमिका जरूर है। वहीं छात्र को हिरासत में लेने को लेकर सीबीआइ की ओर से थोड़ी देर बाद आधिकारिक बयान जारी किया जाएगा। यह भी बताया गया है कि दोपहर दो बजे के बाद नाबालिग छात्र को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया जाएगा, जहां पर जांच एजेंसी रिमांड की मांग करेगी। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र को हिरासत में लेने से पहले सीबीआइ अधिकारियों ने उससे 4-5 बार पूछताछ की थी।

वहीं, आरोपी 11वीं के छात्र के पिता ने सीबीआइ की कार्रवाई पर सवाल उठा दिया है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि उनके बेटे को फंसाया जा रहा है। हालांकि, उन्होंने कबूल किया है कि उनके बेटे से सीबीआइ टीम के अधिकारियों ने पूछताछ की थी। बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र से गुरुग्राम पुलिस भी जांच के दौरान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत उसका बयान दर्ज करा चुकी है।

छात्र की गिरफ़्तारी पर क्या बोले प्रद्युमन के पिता

छात्र की हिरासत के बाद प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने कहा है कि उनका शक सही न‌िकला है। उन्होंने कहा था क‌ि इस हत्या में कंडक्टर नहीं कोई और है। उन्होंने कहा कि उन्हें सीबीआई पर पूरा भरोसा है कि वो उनके बेटे के हत्यारों तक जरूर पहुंचेगी।

आठ सितंबर को गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में जिस तरह से सात साल के मासूम प्रद्युम्न की हत्या हुई उसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया।

इस वारदात के बाद गुरुग्राम पुलिस ने सबसे पहले बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद आरोपी ड्राइवर ने हत्या की बात स्वीकार की थी, लेकिन बाद में वह अपने बयान से पलट गया था और उसने फंसाने की बात कही थी।

ड्राइवर ने यह भी कहा था कि दबाव में आकर उसने हत्या की बात स्वीकार की थी। इसके बाद भारी दबाव के बीच हरियाणा सरकार ने इस मामले की जांच सीबीआइ को सौंप दी थी।

जांच की शुरुआत में सीबीआइ ने इस मामले में बस कंडक्टर के साथ ही स्कूल के माली हरपाल, कई टीचर, नॉन टीचिंग स्टाफ और मैनेजमेंट जुड़े लोगों से पूछताछ की थी।

इतना ही नहीं, सीबीआइ ने बस कंडक्टर और माली के साथ रेयान इंटरनेशनल स्कूल जाकर क्राइम सीन रिक्रिएट किया था। जिस टॉयलेट में वारदात को अंजाम दिया गया वहां भी जांच की गई थी।

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top